‘चैत की चैत्वाली’ गीत को 12 घंटे में ही मिले 1 लाख व्यूज, दर्शकों ने जताई इस बात की नाराजगी, अमित सागर ने दिया ये जवाब

60

यूट्यूब पर उत्तराखंड के इतिहास का सबसे सुपरहिट गीत ‘चैत की चैत्वाल’ का वीडियो गीत रविवार को रिलीज हुआ। गीत अपने आप में हिट था ही लेकिन लोग इस गीत का वीडियो देखने के लिए बेकरार थे। आखिर गाना रिलीज हो गया और हिट भी हो गया। लेकिन वीडियो को लेकर जितनी तारीफ हुई, उतने ही अलग तरह के कमेंट भी देखने को मिले, कुल मिलाकर वीडियो को लेकर लोगों को खासा उत्साह देखा गया। किसी को वीडियो खूब पसंद आया तो किसी ने वीडियो देख अपनी नाराजगी जाहिर की।

यूट्यूब पर 90 प्रतिशत लोगों ने इस गीत को किया है, तो 10 प्रतिशत लोगों को यह गीत पसंद नहीं आया, कमेंट पढ़ने से पता लगा कि लोग इस वीडियो में और भी डांस देखना चाहते थे, इसके अलावा दर्शकों को इस गीत में हीरो ना लेने को लेकर भी मलाल रहा, कुछ का कहना था कि अमित सागर जी को अपनी जगह किसी हीरो को मौका देना चाहिए था। पूजा रावत की एक्टिंग की सभी ने तारीफ़ की। जिस गीत से लोगों को उम्मीदें होती हैं उन गीतों पर इस तरह के कमेंट देखने को मिलते ही हैं।

आपको बता दें कि फ्योंलाडिया गीत को लेकर भी कुछ दर्शकों के मन में नाराजगी थी, लेकिन कुल मिलाकार हमें उन कलाकारों की मेहनत को सलाम करना चाहिए जिन्होंने पूरी सिद्दत के साथ संस्कृति को संजोकर आपके लिए गीत पेश किया है हमें उनका मनोबल बढ़ाना होगा ताकि वो अपने कार्य में हमेशा आगे बढ़ सकें।

गीत को देखकर एक दर्शक ने लिखा “कुछ लोगों को इस लिए बुरा लग रहा क्योकि वो विडियो में धमाकेदार डांस देखना चाहते थे, लेकिन आपने हमारी संस्कृति कायम रखी है हमें आप पर गर्व है, जितना अच्छा सॉन्ग है उससे अच्छा आपका स्वभाव है धन्यवाद शानदार प्रस्तुति के लिए।

लोगों की प्रतिक्रिया के जवाब में अमित सागर ने लिखा “अंततः आप लोगों के प्यार ओर आश्रीवाद के साथ चेतवाळी का वीडियो आपके सामने लाने का बाल प्रयास कर रहा हूँ। मुझे पता है की आप लोगों को वीडियो से बहुत ज्यादा उम्मीद है। जिसके लिए मैंने ओर मेरी पूरी टीम ने वीडियो अच्छा से अच्छा बनाने का प्रयास किया है। आप इस वीडियो को अपना उत्तराखंड का वीडियो समझ कर देखेंगे तो आपको निश्चिय ही आनन्द आएगा ,हमने गीत में उत्तराखंड की नृत्य परम्परा तांदी , चोंफुला , छोपाती , के साथ नए पीढ़ी के लिए बी बोइंग हिपहॉप जैसे नृत्य को मिक्स करने का प्रयास किया है लोक वाद्ययंत्रों ढोल दामो ,भोंकुरे , हुड़का , मसकबाजा , मोरछंग , के साथ ड्रम , गिटार ,कीबोर्ड को भी दिखया है। बाकी वीडियो में पारंपरिक आभूषण झिवरी , सिशफूल , गुलोबन्द , बुलाक दिखाने का प्रयास किया है , ये वीडियो मेरा बालप्रयास है , जो भी आपको वीडियो मे अच्छा लगे
उसका श्रेय मेरी टीम को बाकी जो भी आपको बुरा लगे उसकी जिम्मेदारी में लेता हूँ , बाकी उत्तराखंड की संगीत संस्कृति प्रेमीयों ने मुझे हमेशा अपना प्यार आशीर्वाद दिया है आगे भी देते रहेंगे मुझे पूरी उम्मीद है , जिससे में आगे आपके लिए अच्छे से अच्छा काम कर सकू प्यार बनये रखियेगा , वीडियो अच्छा बुरा जैसा भी स्वीकार कीजियेगा”

दोस्तों आपसे अनुरोध है उत्तराखंडी लोक गायकों का पूरा सपोर्ट करने का प्रयास करें, प्रतिक्रिया और सुझाव जरूर दें, ताकि वो अपने कार्य में सुधार भी कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here