स्वीडन के पर्यटक यहां आकर उठा रहे राफ्टिंग का लुफ्त, आप में भी है साहस तो चले आओ

0

पिछले कुछ सालों से उत्तराखंड पर्यटन ने अभूतपूर्व उन्नति की है, इसमें राफ्टिंग की रफ़्तार वाकई लाजवाब है, साहस और रोमांच का मजा लेने के लिए लाखों की तादाद में हर साल लोग उत्तराखंड आते हैं, ऋषिकेश के बाद अब चमोली में अलकनंदा नदी पर कई स्थानों पर प्राकृतिक रूप से रैपिड बन गए हैं। जिसके कारण से यहां पर राफ्टिंग के लिए संभावनाएं बढ़ गयी हैं।

अलकनंदा नदी पर हेलंग क्षेत्र में दो किमी क्षेत्र में रैपिड उभरने से यहां पर आजकल विदेशी पर्यटक राफ्टिंग का लुफ्त उठा रहे हैं। चमोली व जोशीमठ के बीच हेलंग में एक सप्ताह से अधिक समय से विदेशी पर्यटक डेरा डाले हुए हैं जिससे स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार मिल रहा है। ख़ास तौर से स्वीडन के पर्यटक यहां आकर राफ्टिंग का भरपूर लुत्फ ले रहे हैं।

ये वे क्षेत्र हैं जिसमे पहले भी राफ्टिंग की प्रतियोगितायें भी हो चुकी हैं, अगर सरकार स्थानीय बेरोजगारों को प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ सकती है। मार्च महीने से लेकर जुलाई माह तक इन क्षेत्र में राफ्टिंग की जा सकती है।

अगर आपका मन भी इन क्षेत्र में राफ्टिंग का हो रहा है तो आप भी यहां आ सकते हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here